Sunday, September 19, 2021

नृत्यमय जीवन का सार समझाती Tiny Pretty Things (टीवी सिरीज़)

Tiny Pretty Things (टीवी सिरीज़) बैले नृत्य को केंद्र में रखकर जीवन का सारतत्व समझाती हुई किसी कांटे पर चलती है जो किसी तनी हुई रस्सी पर चलने के सामान तो है लेकिन यहां ग़लती की कोई गुंजाइश इसलिए नहीं है क्योंकि ज़माना प्रतियोगिताओं का है और लगभग सबने अपने-अपने तरह से पुरज़ोर तैयारी कर रखी है। उसमें से कुछ मंज़िल को पाने के लिए किसी भी स्तर तक जाने को तैयार हैं। फिर सफल होने और सफलता को टिकाए रखने का भार भी तो है और वो भी तब जब आपकी जगह लेने के लिए पूरी फौज खड़ी हो! बाक़ी बातें बाद में लेकिन इस सिरीज़ में सबसे ज़्यादा गौर करनेवाली बात है अभिनेताओं का शरीर और बैले को लेकर इनकी तैयारी। लगभग सारे के सारे अभिनेता न केवल अभिनेता हैं बल्कि वो एक बेहतरीन और शानदार बैले नर्तक भी हैं इसलिए वो इस सिरीज़ में नृत्य करने का अभिनय नहीं करते बल्कि जब भी नाचते हैं सच में नाच रहे होते हैं और यह इस सिरीज़ की सबसे ख़ास बात है। पहला सीजन दस भागों का है और लगभग एक एक घंटे के हर भाग में बैले नृत्य आता है और जब वो हो रहा होता है तब आप मंत्रमुग्ध सा हो जाते हैं। Tiny Pretty Things (टीवी सीरीज) सोना चरोपोत्रा और धोनिएला क्लयोन के बेस्टसेलर उपन्यास पर आधारित है और इस सिरीज़ को बेहतरीन कैनेडियन नाटककार, टीवी लेखक और निर्माता माइकल लुविस मैकलेनना ने बनाया है।  

सिरीज़ एक मर्डर के प्रयास से शुरू होती है और दूसरे मर्डर पर जाके ख़त्म होती है और इन सबके बीच में बैले स्कूल है, उसकी तैयारी है, आपस में बनते-बिगड़ते रिश्ते हैं, नफ़रत है, साजिश है, सेक्स है और एक स्कूल को बढ़िया से चलाने के लिए किया जानेवाला दुनियाभर का तिकड़म भी है। एक बैले की तैयारी चल रही है और वहीं एक पुलिस अधिकारी लगातार एक स्टार नृत्यांगना (जो अस्पताल में ज़िन्दगी और मौत के बीच झूल रही है) के हत्या के प्रयास की छानबीन कर रही है। एक तरह जहां बैले की कास्टिंग और कोरिओग्राफी की ज़द्दोज़हद है वहीं दूसरी तरफ एक से एक राज़ का पर्दाफास हो रहा है। इस वजह से पूरे सिरीज़ में एक थ्रिल, रोमांच और रहस्य बना रहता है। अब थ्रिल और रहस्य के साथ एक समस्या यह है कि धीरे-धीरे इसका सुरूर और गहरा होना चाहिए और अंत में जाकर एक शानदार क्लाइमेक्स बनना चाहिए, यहां यह सिरीज़ थोड़ी निराश करती है। उम्मीद बनती है कि जिस बैले की रचना पूरे सिरीज़ में की जा रही है जब वो अंत में प्रदर्शित होगी तो सांसे थम जाएगीं और जिस रहस्य के पीछे एक अधिकारी पूरी सिरीज़ में भाग रही होती है जब वो खुलेगा तो एक धमाका होगा लेकिन यहां मामला उम्मीदों पर खरा नहीं उतरता और फुस्स हो जाता है। आख़िरी का एपिसोड तो लगता है कि जैसे बनानेवाला भी थकान का शिकार हो गया हो और कहा हो कि अब बस करो।

Tiny Pretty Things (टीवी सिरीज़) में हर प्रकार का सेक्स भर भर के है और उसे फिल्माया भी बड़े अच्छे और सहजता से गया है लेकिन सेक्स के यह सारे दृश्य सिरीज़ में अलग से कुछ ख़ास नहीं जोड़ते बल्कि दोहराव ही पैदा करते हैं। कुल मिलाकर मामला यह कि एक शानदार सिरीज़ होने की सारी संभावना अपने अंदर समेटे हुए हैं लेकिन अंततः मामला थोड़ा निराशाजन ही साबित होता है। फिर भी अगर आप डांस और संगीत के दीवाने हैं तो यह सिरीज़ एक बार तो देखना बनता ही है और अगर आप कलाकार विरादरी से हैं तब तो अवश्य ही देखना चाहिए। वैसे पूरी सिरीज़ में बीच-बीच में नैरेशन आता रहता है, वह बड़ा ही शानदार और प्रेरणादायक है, लेकिन यह भी कोई नई बात नहीं है बल्कि ऐसा सबकुछ पहले भी कई बार देखा और सुना जा चुका है।


Tiny Pretty Things (टीवी सिरीज़) Netflix पर उपलब्ध है।

यहाँ देखें

फिल्मची के और आर्टिकल्स यहाँ पढ़ें।

For more Quality Content, Do visit Digital Mafia Talkies.

पुंज प्रकाश
पुंज प्रकाश
Punj Prakash is active in the field of Theater since 1994, as Actor, Director, Writer, and Acting Trainer. He is the founder member of Patna based theatre group Dastak. He did a specialization in the subject of Acting from NSD, NewDelhi, and worked in the Repertory of NSD as an Actor from 2007 to 2012.

नए लेख